Thursday, March 24, 2011

इश्क है क्या ये हम जानते नहीं,
तुमको शायद हम पहचानते नहीं,
ज़िन्दगी के इस तनहा रास्ते में,
किसी को हम खुदा मानते नहीं!
24.3.11

No comments:

Post a Comment