Friday, March 7, 2014

प्यार



दुनियावालों की तीखी नज़रों से छुपकर,
दिल की धडकनों को खुद में समेटकर,
नज़रों को नीची कर,
होंठों को भींच कर,
आँखों को मूंदकर,
खुद को रोककर,
बेपनाह टूटकर,
नन्हा सा प्यार तुम्हारा
मेरे दिल में पल रहा है....

No comments:

Post a Comment